ALL Political Crime Features National International Bollywood Sports Regional Religious Other
कन्नूर में लॉकडाउन सख्ती से लागू होगा
April 21, 2020 • रिपोर्टर्स डाइजेस्ट डेस्क

तिरुवनंतपुरम, :: ऐसे में जब कन्नूर जिला केरल में नवीनतम हॉटस्पॉट (संक्रमण से ज्यादा प्रभावित क्षेत्र) के तौर पर उभरा है राज्य सरकार ने लॉकडाउन के नियमों को सख्ती से लागू कराने पर ध्यान केंद्रित किया है। राज्य सरकार ने साथ ही घरों से बिना वजह बाहर निकलने वाले लोगों के खिलाफ गिरफ्तारी सहित कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी है।

अधिकारियों ने कहा कि कोविड-19 के 52 मामलों के साथ राज्य के उत्तरी जिले को ‘रेडजोन’ के तौर पर वर्गीकृत किया गया है और वहां पूर्ण लॉकडाउन लागू किया गया है। पाबंदियां लागू करने के लिए तीन पुलिस अधीक्षकों को जिम्मेदारी सौंपी गई है।

मुख्यमंत्री पिनारयी विजयन ने सोमवार को राज्य के कुछ हिस्सों में बड़ी संख्या में लोगों और वाहनों के सड़कों पर आने पर गंभीर रुख अपनाते हुए कहा कि कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए सुरक्षा एहतियात के लिए कड़े कदम उठाये जाएंगे।

कन्नूर जिले के प्रभारी पुलिस महानिरीक्षक अशोक यादव ने मंगलवार को संवाददाताओं से कहा, ‘‘सभी लोगों को लॉकडाउन प्रोटोकॉल को गंभीरता से लेना चाहिए क्योंकि यदि वे सड़क पर निकले तो कोविड-19 संक्रमण फैलने की आशंका है। बेवजह सड़कों पर निकलने वालों को पुलिस गिरफ्तार करेगी।’’

उन्होंने कहा कि तीन पुलिस अधीक्षक कन्नूर जिले के लॉकडाउन व्यवस्था के प्रभारी हैं और तलास्सेरी क्षेत्र को निषिद्ध क्षेत्र वर्गीकृत किया गया है।

यादव ने कहा, ‘‘लोग घरों में रहें यह सुनिश्चित करने के लिए कड़े कदम उठाये गए हैं। कन्नूर रेड जोन में है।’’

एक अन्य पुलिस अधिकारी ने पीटीआई से कहा कि पुलिस ने पूरे राज्य में सभी हॉटस्पॉट में जांच बढ़ाने का निर्णय किया है।

अधिकारी ने कहा, ‘‘ऐसा इसलिए क्योंकि मुख्यमंत्री ने कल घोषणा की थी कि लॉकडाउन को सख्ती से लागू किया जाएगा। अंतर जिला यात्रा की अनुमति नहीं होगी और उन सभी 88 हॉटस्पॉट में सख्ती से जांच की जा रही है जो सभी जिलों में फैले हुए हैं।’’

राज्य सरकार ने इससे पहले सोमवार से होटलों और रेस्त्रां में भोजन करने, शहरों में बसों के चलने, निजी वाहनों को विषम-सम आधार पर चलने, दो-पहिया वाहनों पर पीछे व्यक्ति के बैठकर सफर करने आदि सहित छूट देने का निर्णय किया था लेकिन केंद्र द्वारा उन पर आपत्ति जताने के बाद उनमें से कुछ को वापस ले लिया गया।

देर रात जारी एक सरकारी आदेश में कहा गया कि राज्य में तिरुवनंतपुरम और कोच्चि निगम क्षेत्रों सहित 88 कोविड-19 हॉटस्पॉट हैं और वहाँ कोई छूट नहीं होगी।