ALL Political Crime Features National International Bollywood Sports Regional Religious Other
जब दूल्हा पहुंचा दुल्हनिया लेने, तो बिना अनुमति बारात लाना पड़ गया मंहगा
March 25, 2020 • अशफाक कायमखानी


श्रीगंगानगर (राजस्थान)
                  एक ओर तो पूरे देशभर में कोरोना वायरस से बचाव के लिए लॉकडाउन है. तो वहीं दूसरी ओर लोग लॉक डाउन की धज्जियां उडा रहे है. ये उनके लिए, उनके परिवार के लिए, समाज के लिए और पूरे देश के लिए नुकसानदायी है. प्रदेशभर में लॉकडाउन के साथ धारा 144 लागू है.  इस बीच एक मामला प्रदेश के श्रीगंगानगर से सामने आया है. जहां पर बिना अनुमति दूल्हे को बारात लाना महंगा पड़ गया।

पकडे गए तो छुपाया मुँह 
श्रीगंगानगर के लालगढ़ गांव में एक दूल्हा अपनी दुल्हन लेने बारात लेकर पहुंच गया है. जबकि पूरे प्रदेशभर में लॉक डाउन है, वहीं धारा 144 लागू है, इसके बावजूद बिना अनुमति के दूल्हा बारात लेकर पहुंच गया. जब पुलिस को इस बात का पता चला तो दूल्हे को पकड लिया, जब दूल्हे को पकडा तो दूल्हे ने शर्म के मारे अपना मुंह छुपा लिया. पुलिस ने दूल्हे और बारातियों को गाड़ी से नीचे उतारा और पूछताछ की. जिसमें करीब 10-11 लाेग सवार थे. दूल्हे ने शादी की परमिशन एसडीएम से लिए जाने की बात कही, लेकिन काेई दस्तावेज नहीं दिखा पाया।

पुलिस ने दूल्हे को थमाया एक पर्चा
पुलिस ने दूल्हे को एक पर्चा थमा दिया. जिसमें लिखा था मैं समाज का दुश्मन हूं. किसी के कहने पर घर नहीं बैठूंगा. मैं खुद मरूंगा और सबकाे भी मारूंगा. गौरतलब है कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार रात 8 बजे राष्ट्र को संबोधित किया था. उन्होंने पूरे देशभर में 21 दिन के​ लिए लॉकडाउन करने की घोषणा की. वहीं प्रदेश के मुखिया अशोक गहलोत ने भी राजस्थान में लॉकडाउन और धारा 144 लागू कर रखी है. इसके बावजूद लोग अपनी हरकतों से बाज नहीं है. वे घरों में नहीं बैठ रहे है. सरकार और प्रशासन केवल उनके लिए ये सब कर रहे है. प्रदेशभर में कोरोना की रोकथाम के लिए ये कदम उठाये जा रहे है।