ALL Political Crime Features National International Bollywood Sports Regional Religious Other
धौलपुर पुलिस ने नौकरी के नाम पर ठगी करने वाले महिला सहित चार आरोपी गिरफतार।
September 15, 2020 • ।अशफाक कायमखानी।


धौलपुर 15 सितंबर। जिले में एक महिला सहित चार जनों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है जिन्होंने रेलवे में नौकरी दिलाने का झांसा देकर लाखों रुपए ठगे थे इस मामले की जांच सीआईडी सीबी ने की थी। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बचन सिंह मीणा ने बताया कि रेलवे मे सरकारी नोकरी का झांसा देकर आठ लाख रूपये की ठगी के ईनामी आरोपी  अनीता शर्मा उर्फ आशा पत्नी कैलाश चन्द जाति ब्राहम्ण उम्र 48 साल निवासी सुन्दरपुर थाना दिहोली के साथ कैलाश चन्द पुत्र जगदीश प्रसाद जाति ब्राहम्ण उम्र 53 साल निवासी सुन्दरपुर थाना दिहोली, राकेश शर्मा पुत्र रामेश्वरदयाल जाति ब्राहम्ण उम्र 54 साल निवासी रेलवे स्टेशन के पीछे नीग गंगा उज्जैन थाना नीलगंगा जिला उज्जैन म0प्र0 तथा श्याम तिवारी पुत्र मुकेश तिवारी जाति ब्राहम्ण उम्र 32 साल निवासी रन्छोर पुरा हाल बाईपास पिनाहट रोड राजाखेडा थाना राजाखेडा हाल 14 बी नीलमार्गी मित्रा रॉ सरकार बगान थाना टाला जिला कलकत्ता प0 बंगाल को गिरफतार किया है। 
उन्होंने बताया कि अंकित पचौरी पुत्र  रामरूप पचौरी ब्रहाम्ण निवासी मांगरोल थाना मनिया जिला धौलपुर ने 19.08.2020 को थाना मनिया पर मुकदमा दर्ज कराया कि बर्ष 2012-2013 में आरोपियों ने मेरे घर गाव मागरोल पर आये और मेरे परिवारीजन व मुझसे रेलवे में ग्रुप "सी" की नौकरी लगवाने का व रेलवे के अधिकारीयो से अच्छे तालमेल होने का झांसा देकर आठ लाख रूपये ले लिये है तथा मुझे कोलकाता ले जाकर वहां श्याम तिवारी व राकेश शर्मा व बाल्मिकी कुशवाह से मुलाकात कराई। फिर ये सभी मुझे फर्जी परीक्षा दिलाने ले गये। जहां फर्जी पेपर कराया और फर्जी तरीके से मेडीकल करवाया और चयन सूची जारी कर मुझसे कहा गया कि अब आप जाओ आपकी नौकरी पक्की हो गई। आपके पास कॉल लेटर पहुंच जायेगा। मगर आज तक कोई कॉल लेटर नही आया है। मैने जानकारी की तो पता चला कि इन लोगों ने मुझे नौकरी के नाम पर ठग लिया है। मैने इनसे कहा सुनी की व अपने रूपये वापस मांगे तो अब तक रूपये वापस देने का झासा देते रहे मगर रूपये वापस नही किये है। घटना का मुकदमा दर्ज कर जांच हुई। व आरोपियों को जेल से गिरफ्तार कर लिया। 
के खिलाफ थान निहालगंज व थाना दिहौली में इसी प्रकार के प्रकरण दर्ज है । पूर्व में उक्त आरोपीयों के सम्बन्ध में सीअईडी सीबी ने अनुसंधान किया है।