ALL Political Crime Features National International Bollywood Sports Regional Religious Other
भीलवाड़ा में कोरोना संक्रमण के बीच शादी पड़ी महंगी 6 लाख 6 हजार 600 रुपए का लगा जुर्माना
June 28, 2020 • ।अशफाक कायमखानी।

भीलवाड़ा।
          राजस्थान के भीलवाड़ा जिले के कलेक्टर ने वहां के एक शख्स पर 6 लाख 26 हजार 6 सौ रुपए का जुर्माना लगाया है. दरअसल, इस शख्स ने अपने बेटे के शादी समारोह में 13 जून को 50 से ज्यादा लोगों को आमंत्रित किया था. समारोह में शामिल होने के बाद 15 लोग कोरोना संक्रमण के शिकार पाए गए, जबकि एक शख्स की मौत इसी संक्रमण की वजह से हो गई।  शादी में फैले संक्रमण के चलते प्रशासन का बड़ा निर्णय, अनुमति के बावजूद ज्यादा मेहमान बुलाने पर लगाई पैनल्टी,भदादा मोहल्ले में हुआ था शादी समारोह,6 लाख 6 हजार 600 रुपये की पैनल्टी लगाई 3 दिन के अंदर CMरिलीफ़ फ़ंड में जमा करानी होगी।

गौरतलब है कि पूरे राजस्थान में प्रशासन ने बड़ी मुस्तैदी के साथ लॉकडाउन का पालन करवाया है. कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन के तहत जारी निर्देशों के प्रति प्रशासन खूब सतर्क रहा है. राजस्थान पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के रिकॉर्ड चालान काटे हैं. राजस्थान में एपिडेमिक अध्यादेश  के तहत अब तक 1 लाख 36 हजार से अधिक व्यक्तियों का चालान कर उनसे 2 करोड़ 35 लाख रुपये से अधिक का जुर्माना वसूल किया जा चुका है.

मास्क नहीं लगाने पर 66 हजार से अधिक लोगों पर लगाया जुर्माना
पुलिस महानिदेशक (अपराध) बीएल सोनी ने बताया कि सार्वजनिक स्थलों पर मास्क नहीं लगाने वाले 66 हजार से अधिक लोगों पर जुर्माना लगाया गया है. बिना मास्क पहने लोगों को सामान बेचने वाले 7 हजार से अधिक और निर्धारित सुरक्षित भौतिक दूरी नहीं रखने वाले 63 हजार व्यक्तियों का चालान काटा गया है. इनके अलावा सार्वजनिक स्थलों पर थूकने, शराब पीने और गुटखा-तंबाकू खाने वाले व्यक्तियों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाइयां की गयी है. वहीं बड़ी संख्या में वाहनों को जब्त किया जाकर उनसे भी करोड़ों का जुर्माना वसूला गया. उसके बाद कार्रवाइयां अभी भी जारी है।

कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ भी सख्त रही पुलिस
सोनी ने बताया कि लॉकडाउन के पीरियड में कालाबजारी करने वाले लोगों पर भी पुलिस ने अपनी पैनी नजर रखी. लॉकडाउन के दौरान कालाबाजारी करते पाये गये दुकानदारों के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत 135 मुकदमें दर्ज कर कार्रवाई की गई है और 85 को गिरफ्तार किया गया है. सोनी ने बताया कि राजस्थान पुलिस द्वारा सभी निर्धारित प्रावधानों के तहत प्रभावी कार्रवाई की जा रही है।