ALL Political Crime Features National International Bollywood Sports Regional Religious Other
आज राजस्थान हाईकोर्ट पर रहेंगी सबकी निगाहें,तीन महत्वपूर्ण मामलो पर होगी सुनवाई
August 4, 2020 • ।अशफाक कायमखानी।

                   
जयपुर ::  राजनीतिक खींचतान के बीच मंगलवार को राजस्थान हाईकोर्ट पर सबकी निगाहें लगी रहेंगी. राजस्थान हाईकोर्ट में विधायकों के वेतन रोकने और राज्यपाल की ओर से सत्र नहीं बुलाने पर उन्हें पद से हटाने सहित तीन महत्वपूर्ण मामलों पर सुनवाई होगी।
विवेक सिंह जादौन ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट गुट के विधायकों के होटलों में रुकने को यह कहते हुए चुनौती दी है कि कोरोना संक्रमण के चलते प्रदेश में वित्तीय हालात सही नहीं है, लेकिन फिर भी एमएलए अपने मौजूदा विधानसभा क्षेत्रों में नहीं जा रहे हैं और निजी कारणों से होटलों में रुके हुए हैं. ऐसे में एमएलए के विधायी कार्य नहीं करने पर उन्हें वेतन-भत्तों का भुगतान क्यों किया जाए।
पीआईएल में कहा कि प्रदेश में एक ही राजनीतिक दल से जुडे ये विधायक आपसी प्रतिस्पर्धा के चलते आमजन के धन का दुरुपयोग कर रहे है. इसलिए दिल्ली रोड और व मानेसर की होटलों में रुके हुए एमएलए के वेतन-भत्तों को रोका जाए. याचिका में सीएम सहित विधानसभा स्पीकर, विधानसभा सचिव व मुख्य सचिव को पक्षकार बनाया है।
वहीं, राज्यपाल की ओर से विधानसभा का सत्र नहीं बुलाए जाने पर उन्हें पद से हटाने को लेकर दायर जनहित याचिका पर मुख्य न्यायाधीश की खंडपीठ सुनवाई करेगी. शांतनु पारीक व अन्य की ओर से याचिका में कहा गया कि केबीनेट के प्रस्ताव के बाद भी राज्यपाल ने विधानसभा का सत्र नहीं बुलाया. ऐसे में हाईकोर्ट केन्द्र सरकार को निर्देश दे कि वह राज्यपाल को हटाने के लिए राष्ट्रपति को सिफारिश करे।
दूसरी ओर सचिन पायलट खेमे के एमएलए भंवरलाल शर्मा की ओर से भी उनके खिलाफ एसओजी में दर्ज एफआईआर को चुनौती देते हुए दायर याचिका पर मंगलवार को सुनवाई होगी.  भंवरलाल ने एफआईआर को रद्द करने या उसकी जांच एसओजी से लेकर एनआईए को सौंपने की गुहार की है।