ALL Political Crime Features National International Bollywood Sports Regional Religious Other
271 रोगियों का हुआ मोबाइल ओपीडी सेवा इलाज चिकित्सा विभाग की ओर से शुरू की गई है मोबाइल ओपीडी यूनिट सेवा।
April 24, 2020 • अशफाक कायमखानी।

 

सीकर।
           आमजन के इलाज के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से मोबाइल ओपीडी यूनिट सेवा शुरू की गई है। इसके तहत मोबाइल मेडिकल वैन व यूनिट द्वारा गुरूवार को गांवों में शिविर लगाए और रोगियों का चिकित्सकों ने उपचार कर निशुल्क दवाइयां दी।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अजय चौधरी ने बताया कि शुक्रवार को आठ ब्लॉकों के गांवों में लगाए शिविरों में 110 पुरूष, 114 महिलाएं और 47 बच्चों का मोबाइल ओपीडी यूनिट सेवा के तहत उपचार किया गया। इस दौरान 42 गर्भवती महिलाओं के भी स्वास्थ्य की जांच की गई। गांवों में लगे शिविर में 68 लोग खांसी से पीडित पाए गए। वहीं 3 बुखार, 5 मधूमेह और 22 हाइपर टेंशन से ग्रसित पाए गए। इन सभी रोगियों का उपचार कर निशुल्क दवा उपलब्ध करवाई गई है। 
सीएमएचओ डॉ चौधरी ने बताया कि कोविड 19 संक्रमण और लॉक डाउन को देखते हुए जिन गांवो में चिकित्सा सेवाओं की पहुंच कम है। वहीं लॉकडाउन के कारण आमजन अस्पताल नहीं पहुंच सकते हैं, उन गांवो में लोगों को प्राथमिक चिकित्सा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से राज्य सरकार की ओर से मोबाइल ओपीडी यूनिट वाहन सेवा शुरू की है। इसके तहत विभाग की एमएमवी व एमएमयू द्वारा आमजन को प्राथमिक चिकित्सा सेवा उपलब्ध कराई गई। 
                 दांता ब्लॉक के चक गांव में लगे शिविर में 55 रोगियों का उपचार किया। वहीं 10 गर्भवती महिलाओं की स्वास्थ्य जांच की गई। यहां पर 20 पुरूष, 34 महिलाएं और एक बच्चों का चिकित्सकों द्वारा उपचार किया गया। इसी प्रकार पिपराली ब्लॉक में बालाजी का नाडा में लगे शिविर में 8 पुरूष, 10 महिलाएं और एक बच्चे सहित 19 रोगियों का उपचार किया गया। यहां पर तीन गर्भवती महिलाओं की भी स्वास्थ्य जांच की गई। कूदन ब्लॉक के दीपपुरा चारणा गांव में लगे शिविर में 21 पुरूष, 8 महिलाएं और 4 बच्चों का उपचार किया। 
सीएमएचओ डॉ चौधरी ने बताया कि लक्ष्मणगढ़ ब्लॉक के हमीरपुरा ग्राम में आयोजित शिविर में चिकित्सकों व पैरामेडिकल स्टाफ द्वारा 8 पुरुष, 8 महिलाएं तथा 3 बच्चो की स्वास्थ्य जांच कर निशुल्क दवा दी गई। इसी प्रकार नीमकाथाना के औद्योगिक क्षत्र में लगे शिविर में 12 रोगियों का उपचार किया गया, जिनमें 6 पुरूष व 4 महिलाएं और 2 बच्चे शामिल हैं। 
                फतेहपुर ब्लॉक के ढाणी हातीदान चारणा में लगे शिविर में 66 रोगियों का इलाज किया गया। इनमें 18 पुरूष, 22 महिलाए और 26 बच्चे शामिल हैं। यहां पर 2 गर्भवती महिलाओं के भी स्वास्थ्य की जांच की गई। खंडेला ब्लॉक के पनीहारवास गांव में लगे शिविर में 19 पुरूष, 12 महिलाए और 8 बच्चों का इलाज किया। यहां पर 25 गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य की जांच की गई। श्रीमाधोपुर ब्लॉक के सरगोठ गांव में 11 पुरूष, 16 महिलाएं और 2 बच्चों का उपचार किया। वहीं 2 गर्भवती महिलाओं को भी सेवाएं दी गई।